शनिवार, 20 जून 2015

सायर मेघ Sayar meghwal sayar megh sayar jaipal

मेघ सायर सुत्त रामदे , ज्यारी महिमा भारी ।
अजमल जी ने भेट कियो सुत्त , सायर ने बलिहारी ।।
मेघरिखो सॅग अजमल जी रा , भाग जागिया भारी ।
दुनिया जाणे रामदेव जी , अजमल घर अवतारी ।।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

नवरत्न मन्डुसिया

खाटूश्यामजी मे होगा 25 दिसम्बर 2017 को बलाई समाज का सामूहिक विवाह सम्मेलन

नवरत्न मन्डुसिया की कलम से //बेटा अंश है तो बेटी वंश है, बेटा आन है तो बेटी शान है, का संदेश देते हुए राज्य स्तरीय सामूहिक विवाह व पुर्नविवा...