शुक्रवार, 16 जून 2017

मेघवाल समाज के भीम पुत्र प्रहलाद बरवड़ की फोटोग्राफी और चित्रकला मे जबरदस्त परफ़ॉरमेन्स पर आर्ट ऑफ किंग की संज्ञा

नवरत्न मन्डुसिया की कलम से //फोटोग्राफर से लेकर चित्रकार के रुप मे काम कर रहे है राजस्थान प्रांत के सीकर जिले के मंढा सुरेरा के फोटोग्राफर प्रहलाद बरवड़ दोस्तो जब प्रहलाद पेंटर अपनी कलाकारी आजमाते है तो हर कोई बधाई देने से नही चूकते है प्रहलाद बड़वड़ अपनी कलाकृति कलाकारी चित्रों के रुप मे उकेरते है तो हर कोई स्तम्भ रह जाते है प्रहलाद बरवड़  के मुख्य रुप से फोटोग्राफर का है लेकिन इनके अलावा चित्र कार के रुप मे शादी पार्टियों आदि मे भीती चित्र और नामों की पेंटिंग बहूत सुंदर तरीके से करते है जिसमे आसपास के गाँवों मे बहूत फ़ेमस है प्रहलाद बरवड़ को आर्ट और किंग के नाम से जाने जाते है प्रहलाद बड़वर बताते है की भारतीय चित्रकला में राजस्थानी चित्रकला का विशिष्ट स्थान है, उसका अपना एक अलग स्वरुप है। और प्रहलाद बरवड़ कुछ उपलब्ध चित्रों के आधार पर किसी भी चित्र की कलाकारी करके उस चित्र को उकेर सकते है तथा बहूत जगहो पर अपनी कलाकृति करके बहूत नाम कमा रहे है प्रहलाद बरवड़ कहते है की कोई भी काम मुश्किल हो तो यदि हम कोशिश करेंगे तो उस काम को बहूत जल्द ही कर सकते है तथा पेंटिंग के अलावा फोटोग्राफी वीडियो ग्राफि और इनके साथ साथ मिक्सिंग का भी काम करते है तथा शादी पार्टियों मे स्टेज प्रोग्राम होते है उसको बहूत ही बारीकी से बहूत सुंदर तरीके से सजाते है जब शादी पार्टियों मे उनकी कला को देखते है तो हर कोई इनको बधाई देने से नही चूकते है इस कारण प्रहलाद बरवड़ को आर्ट और किंग के नाम से जानते है प्रहलाद बरवड़ जेसे एक सामान्य जीवन व्यापन करने वाले साधारण फोटोग्राफर ने अपनी पहचान एक अलग ही बना रखी रखी है और देखने मे किसी सूपर स्टार से कम नही लगते रंग गोरा लम्बे कद के पर अच्छी बॉडी आदि जबरदस्त तरीके से दिखने वाले युवा इन दिनो बहूत चर्चाऔ मे कलाकृति के कारण हो रहे है अब प्रहलाद बरवड़ बहूत ही जल्द बाबा साहेब डॉक्टर भिव राव अम्बेडकर की फोटो को उकेरेंगे प्रहलाद बड़वर इन चित्रकृतियों पर किसी एक वर्ग विशेष पर चित्रकारी नही करते है और  धीरे-धीरे यह बात प्रमाणित होती गई कि राजस्थानी शैली को अपने दिल और दिमागकुछ क्षेत्रीय चित्रों को उकेरते है मे नवरत्न मन्डुसिया इनकी फोटोग्रफी और चित्रकारी की बहूत तारीफ करता हूँ और उज्ज्वल भविष्य की कामना करता हूँ की इनकी चित्रकारी और फोटोग्राफी यू ही चमन पर रहे और स्वतंत्र रुप से अपना पहचान बनाने में सफल होवे तथा प्रहलाद बरवड़ सन 2009 से लेकर 2017 तक निस्वार्थ ब्लड डोनेट भी किया है और इन ब्लड डोनेट के कारण कई बार जिला स्थिर पर सम्मानित भी हो चुके है तथा चित्र कला फोटोग्राफी के अलावा समाज सेवा मे भी अपना महत्वपूर्ण जगह रखते है  :- नवरत्न मन्डुसिया की कलम से 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

नवरत्न मन्डुसिया

भँवर मेघवंशी ने किया अपना देहदान

एक जरुरी फैसला - देहदान का ! मैं जो भी हूँ ,आप सबके प्यार ,स्नेह और मार्गदर्शन की वजह से हूँ। इसलिए आप सबका खूब खूब धन्यवाद ,साधुवाद,आभा...