मंगलवार, 20 जून 2017

जेसलमेर मेघवाल समाज की बेटियाँ प्रसिद्ध है पूरे राजस्थान मे आन बान और शान से

नवरत्न मन्डुसिया की कलम से //जैसलमेर के मेंघवंशी परिवार की बेटियों ने शिक्षा के क्षेत्र में अपने समाज में ही नहीं वरन पूरे जिले में मिसाल कायम की है ।
जैसलमेर का राजपूत बहुल इलाका बसिया राजपूत सरदार जो अपनी आनबान व शान के अनुकूल मातृभूमि की रक्षा के लिए इस विहंगम दुर्गम रेगिस्तानी इलाको में रहते थे जंहा बिजली पानी भी दुर्लभ थे उस इलाके में शिक्षा के बारे में सोचना भी एक सपना था उसी इलाके के एकगांव चेलक में हिन्दू मेघवंशी चौखाराम जी का भी परिवार रहता था ।उनके बेटे रूपाराम जी धनदेव ने बड़ी कठिन परिस्थितियों में पढ़ाई की और जलदाय विभाग में चीफ इंजीनियर के पद तक पंहुचे।उनके ही घर पर उनकी छह बेटियों व एक बेटे ने जिस महेनत लगन से विपरीत परिस्थितियों में भी जो शिक्षा हासिल की वह अपने आप मे एक उदाहरण बन गया है पूरा समाज ही नही अपितु सम्पूर्ण जैसलमेर जिले मेंयह परिवार एक उदाहरण बन चुका है ।जी हाँ वही जैसलमेर जंहा बालिका को जन्म लेते ही मौत के घाट उतार दी जाती थी उसी बीहड़ दुर्गम रेगिस्तानी जिले जैसलमेर के बसिया क्षेत्के चेलक गांव की इन बेटियो ने जैसलमेर का नाम विश्व पटल पर स्वर्णिम अक्षरों में लिख दिया है ।
पूरे जैसलमेर को आज आपके परिवार पर गर्व है ।
अंजना मेघवाल आर ए एस उत्तीर्ण जिला प्रमुख
गोमती धनदेव चिकित्सक सरकारी सेवा में
राजेश्वरी धनदेव चिकित्सक दिल्ली में निजी क्षेत्र में
हरीश धनदेव इंजीनियर एलोविरा के उत्पादन में
प्रेम धनदेव।DY.SP राजस्थान पुलिस सेवा में
धवना धनदेव।चिकित्सक निजी क्षेत्र में
प्रिया धनदेव जिसने कल की जैसलमेर की प्रथम छात्रा ने
अमेरिका (USA) की कैलिफ़ोर्निया राज्य के San Fransisco शहर की Santa Clara University में आयोजित दीक्षांत समारोह में इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग की मास्टर्स डिग्री (M.S.) प्राप्त की ।
इतना ही नही इस परिवार ने इतनी उच्च शिक्षा ग्रहण करने के बाद भी अपने सामाजिक रीति रिवाजों की पूरी तरह से पालना की है :- नवरत्न मन्डुसिया की कलम से

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

नवरत्न मन्डुसिया

भँवर मेघवंशी ने किया अपना देहदान

एक जरुरी फैसला - देहदान का ! मैं जो भी हूँ ,आप सबके प्यार ,स्नेह और मार्गदर्शन की वजह से हूँ। इसलिए आप सबका खूब खूब धन्यवाद ,साधुवाद,आभा...