सोमवार, 12 जून 2017

अनु मेघवाल राजस्थान की सबसे सक्रिय समाज सेविका :- नवरत्न मन्डुसिया

अनु मेघवाल मीडिया से रूबरू होती हुई 

नवरत्न मन्डुसिया की कलम से //अनु मेघवाल की दास्तान हिसाब से फिल्मी नजारों से कम नही है दोस्तो मे बहिन अनु मेघवाल को अक्सर देखता हूँ तो अनु मेघवाल हमेशा व्यस्त ही ही रहती है वो भी समाज सेवा मे अनु मेघवाल राजस्थान की महिलाओ मे सबसे सक्रिय समाज सेविका है क्यों की यह सबसे कठिन काम को सरल बनाने मे एक्सपर्ट है इस कारण आगे बढ़ने की जिद हमेशा रखते है
अनु मेघवाल का वेसे सरकारी विभाग मे चिकित्सक के पद पर चयन हो रखा है और अनु मेघवाल मेरे हिसाब से मेघवाल समाज का नाम भी रोशन करेगी क्यों की इतनी कम उम्र मे उनके बोलने का टेलेंट भी डॉक्टर ए.पी.जे अब्दुल कलाम मदर टेरेसा दलित सम्राट कांशीराम जी और बाबा साहेब से कम नही है मेरी और से अनु बहिन को ढेर सारी शुभकामनाएँ आपके साथ है की आप हमेशा आगे बढ़ते रहे और समाज सेवायें करते रहे मुझे  तो आपको एक ही बात कहनी है की आप हमेशा दलितों की हितेषि रहना दोस्तो वेसे मे अनु मेघवाल को व्यक्तिगत और मिलकर आपको पूरी जानकारी प्रेषित करूँगा  वेसे अनु मेघवाल मेरी सोशियल फेसबुक दोस्त है और मे अनु मेघवाल से जल्द ही मिलूंगा और उनके बारे मे आपको पूरी जीवनी से अवगत कराऊंगा दोस्तो अनु बहिन का पूरा सहयोग करे मे नवरत्न मन्डुसिया अनु मेघवाल को पूरा सहयोग ककरता हूँ  अनु मेघवाल साधारण कपड़ो और  सूती साड़ी और हवाई चप्पल में वह साधारण स्त्री ही नजर आती हैं। जब फर्राटेदार अंग्रेजी बोलना शुरू करती हैं तो समझ आता है कि वह घाट की रहने वाली नहीं हैं। जब भाषण देती है तो वहां जमा होने वाली भीड़ को देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि उनकी बातों का कितना असर हमारे देश पर है। अनु मेघवाल ने सामाजिक अध्ययन के क्षेत्र में बहूत योगदान  किया है। और समझा है की हमे किस तरह से आगे बढ़ना है
 अनु मेघवाल के तर्क  :-- अनु मेघवाल
जीवन-स्तर को उन्नत बनाने का प्रयत्न करती है। मेघवाल कहती है की जब हम सामाजिक विचारो को उकेरे तो आप इस हिसाब से उकेरे की समाज मे सकारात्मक क्रांति फेले सामाजिक कार्य को सकारात्मक, और सक्रिय हस्तक्षेप के माध्यम से लोगों और उनके सामाजिक माहौल के बीच अन्तःक्रिया प्रोत्साहित करके व्यक्तियों की क्षमताओं को बेहतर करना ताकि वे अपनी ज़िंदगी की ज़रूरतें पूरी करते हुए अपनी तकलीफ़ों को कम कर सकें। इस प्रक्रिया में समाज-कार्य लोगों की आकांक्षाओं की पूर्ति करने और उन्हें अपने ही मूल्यों की कसौटी पर खरे उतरने में सहायक होता है।

समाजसेवा वैयक्तिक आधार पर, समूह अथवा समुदाय में व्यक्तियों की सहायता करने की एक प्रक्रिया है, जिससे व्यक्ति अपनी सहायता स्वयं कर सके। इसके माध्यम से सेवार्थी वर्तमान सामाजिक परिस्थितियों में उत्पन्न अपनी समस्याओं को स्वयं सुलझाने में सक्षम होता है। समाजसेवा अन्य सभी व्यवसायों से सर्वथा भिन्न होती है, क्योंकि समाज सेवा उन सभी सामाजिक, आर्थिक एवं मनोवैज्ञानिक कारकों का निरूपण कर उसके परिप्रेक्ष्य में क्रियान्वित होती है, जो व्यक्ति एवं उसके पर्यावरण-परिवार, समुदाय तथा समाज को प्रभावित करते हैं। सामाजिक कार्यकर्ता पर्यावरण की सामाजिक, आर्थिक एवं सांस्कृतिक शक्तियों के बाद व्यक्तिगत जैविकीय, भावात्मक तथा मनोवैज्ञानिक तत्वों को गतिशील अंत:क्रिया को दृष्टिगत कर ही सेवार्थी की सेवा प्रदान करता है। वह सेवार्थी के जीवन के प्रत्येक पहलू तथा उसके पर्यावरण में क्रियाशील, प्रत्येक सामाजिक स्थिति से अवगत रहता है क्योंकि सेवा प्रदान करने की योजना बताते समय वह इनकी उपेक्षा नहीं कर सकता। दोस्तो अनु मेघवाल को राजस्थान से हर हिस्से से आगे बढ़ने के लिये प्रेरित करे और आगे बढ़ाने मे सहयोग करे (नवरत्न मन्डुसिया की कलम से )
अनु मेघवाल मीडिया से रूबरू होती हुई 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

नवरत्न मन्डुसिया

खाटूश्यामजी मे होगा 25 दिसम्बर 2017 को बलाई समाज का सामूहिक विवाह सम्मेलन

नवरत्न मन्डुसिया की कलम से //बेटा अंश है तो बेटी वंश है, बेटा आन है तो बेटी शान है, का संदेश देते हुए राज्य स्तरीय सामूहिक विवाह व पुर्नविवा...