सोमवार, 2 नवंबर 2015

कब रुकेगी जातिवाद की पाठशाला :- नवरत्न मन्डुसिया

मन्डुसिया लेखन // दोस्तो मे अपने ब्लॉग पर जातिवाद से सम्भदित कूछ चीजे शेयर अपने ब्लॉग के माध्यम से कर रहा हूँ डॉक्टर भीव राव अम्बेडकर ने समानता का कानून बनाया था लेकिन बाबा साहेब की कलम की अवहेलना की जा रही हैं और आज भी जातिवाद की बाढ़ आ रही हैं दोस्तो मेघवाल समुदाय के साथ आज भी भेदभाव किया जाता हैं ये लोग ऐसी ओछी सोच क्यों रखते हैं दोस्तो जातिवाद एक भयंकर समस्या हैं क्यों की यह प्रथा हमारे समाज के लिये एक दिन बहूत समस्या बन जायेगी इस कारण समाज पिछड़ता जायेगा और हम आगे बढ़ नही पायेंगे इस कारण हम सभी लोगों कॊ एकता की भावना रखकर हम सभी कॊ आगे आना चाहिये और इस जातिवाद की पाठशाला कॊ विलुप्त करना हैं और हम पूरे विश्व मे ये मुहिम की क्रांति चलायेंगे जिसमे जातिवाद कॊ मिटाया जा सकेगा भारतीये संविधान ने सभी नागरिकों कॊ समानता का अधिकार दिया गया हैं और राजनेतिक और कानूनी तौर पर भी सभी समान हैं फ़िर भी हमारे समाज के साथ अत्याचार होता हैं और सरकार कोई गम्भीर कदम नही उठाती हैं सभी मेघवाल समाज के बंधुओं कॊ पता हैं की 14 मई 2015 कॊ दांगावास मे मेघवाल समुदाय के लोगों कॊ मौत के घाट उतार दिया गया था और दाँता मे फूल चंद मेघवाल के परिवार के साथ मारपीट की गयी और उसके घर जला दिये गये ये सभी हमारे समाज के लिये नकारात्मक हैं इसलिए हमारे मेघवाल समुदाय कॊ आगे बढ़ना हैं हमारे समाज मे आज भी ऐसी चुनौतियां हैं जिनके आधार पर विभिन्न समूहों / समुदायों व व्यक्तियों के साथ भेदभाव किया जाता हैं ऐसी घटनाये हमारे समाज कॊ पिछडापन बना देती हैं इस कारण दोस्तो हम सभी मेघवंशीयों कॊ समाज की खातिर आगे आना चहिये और समाज एकता मे अपना योगदान देना चहिये और दोस्तो मेने समाज पर ये बुक लिखी हैं 1. ए लिंक ऑफ सोसीयस और इसके अलावा डांगावास दलित हत्याकांड पर भी एक बुक लिखी हैं उस बुक का नाम हैं 2. 18 वर्सेज़ 1800 इन डांगावास दलित मर्डर हिस्टरी ये बुक आपको ऑल इंडिया मे कही से भी खरीद सकते हो

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

नवरत्न मन्डुसिया

मेघवाल समाज का लाडला नरेन्द्र वर्मा बासडी (सीकर) 18 बार रक्तदान करने पर जिला स्तर सम्मानित

नवरत्न मन्डुसिया कि कलम.से//विश्वरक्तदाता दिवस के अवसर पर सीकर जिले के युवाओं को रक्तदान हेतु प्रेरित करने वाले लगातार रक्तदान शिविरो का आ...