शनिवार, 1 अक्तूबर 2011

हक के लिए ढंग से लड़ना होगा : मेघवाल (Have to fight for the right way: Meghwal)

राजनीतिक दलों ने अपने लाभ के लिए दलितों का भरपूर उपयोग किया है। दलित समाज आज भी याचक की भूमिका में खड़ा है। आरक्षण देने मात्र से दलितों का भला नहीं हो गया। अब कमजोर तबकों को उठकर अपने हक के लिए सही ढंग से लड़ाई लड़ना होगी। दलितों को सामाजिक न्याय पूरी तरह नहीं मिला है।


यह बात पूर्व केंद्रीय मंत्री कैलाश मेघवाल ने नीमच के दशहरा मैदान में आयोजित सर्व मेघवंश सम्मेलन को संबोधित करते हुए कही। बारिश में भीगने के बावजूद श्री मेघवाल बोलते रहे। लोगों ने भी उन्हें धैर्यपूर्वक सुना। उन्होंने कहा कि मेघवंशियों को अन्य समुदायों की तुलना में राजनीति में आगे आने के अवसर मिलने चाहिए। उन्होंने मेघवंशियों को चेताया कि शराब और नोटों के बदले वोट देने की कुप्रथा पर लगाम लगाएँ। देशभर में मेघवंशियों का जनजागरण अभियान चलाया गया है।


मेघवंश के राष्ट्रीय अध्यक्ष गोपाल डेनवाल ने कहा कि आज भी भारत में 25 करोड़ मेघवंशी गुमनामी की जिंदगी जी रहे हैं। उन्हें अपने हक के लिए आगे लाना हमारा उद्देश्य है। मेघवंश के राष्ट्रीय महामंत्री प्यारेलाल रांगोठा ने कहा कि मेघवंश को अपना इतिहास जानना चाहिए। सर्व मेघवंश की महिला प्रकोष्ठ की राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रमिला एस कुमार साधौ ने कहा कि समाज में बालिकाओं को शिक्षित करें, उन्हें आगे आने के अवसर दें। समाज के विकास में महिलाओं की भागीदारी महत्वपूर्ण है। प्रदेश अध्यक्ष देवेंद्र परिहार ने मेघवंश को आरक्षण देने, मेघवंश को धर्मशाला एवं छात्रावासों के लिए जमीन आवंटित करने सहित 9 मुद्दों का ज्ञापन पढ़ा, जिसे बाद में केंद्रीय प्रतिनिधियों को सौंपा गया। राष्ट्रीय महासचिव प्रभुलाल चंदेल ने मेघवंश के उत्थान के लिए शिक्षा को बढ़ावा देने की बात कही।


इससे पूर्व सर्व मेघवंश समाज द्वारा नगर में रविवार दोपहर 12 बजे आंबेडकर चौराहे से रैली निकाली गई। मुख्य मार्गों से होती हुई रैली दशहरा मैदान पर सभा में परिवर्तित हुई। रविदास भक्त मंडल उज्जैन द्वारा मीरा के भजनों की प्रस्तुति दी गई। इससे पूर्व मेघ चालीसा का पाठ किया गया। संचालन किशोर जेवरिया ने किया।

Political parties have been utilized for the benefit of Dalits. Venue still stands in the role of supplicant. Reservation was just not good for the downtrodden. The weaker sections will be up and fight for your rights properly. Underprivileged social justice is not complete.


The former Union Minister Kailash Meghwal Neemuch Dussehra Maidan, while holding all Megvansh conference. Despite Mr. Meghwal kept wet in the rain. They heard him patiently. He Megvanshion compared to other communities should have the opportunity to get ahead in politics. He cautioned Megvanshion to vote against alcohol abuse and notes Restrict. Megvanshion in the country's public awareness campaign has been launched.


Megvansh the president said Gopal Denwal Megvanshi 25 million in India today are living a life of anonymity. Our aim is to bring them up for your rights. The national general secretary Pyarelal said Megvansh Rangota Megvansh should know their history. Megvansh all of the women's wing president said Pramila S Kumar Sadu to educate girls in society, give them the opportunity to get ahead. Women's participation in the development of society is important. Megvansh reservation to the State President Devendra Parihar, Megvansh to allocate land for a hotel and hostels, including the 9 issues, read the memo, which was later assigned to the Union representatives. National General Secretary Prbhulal Chandel promote education for the upliftment of Megvansh talked about.


Earlier Sunday afternoon in the city by all Megvansh society rallied from 12 at the intersection of Ambedkar. Dussehra rally of the main routes on the field changed in the House. Ujjain Division Meera bhajans by devotees Ravidas was presented. Before the text was Lent cloud. Operation Teen Xavria did.

1 टिप्पणी:

  1. If we associate such type of social reforming movement with the politics then their is more chances of break down.... So better be away of it.

    उत्तर देंहटाएं

नवरत्न मन्डुसिया

खाटूश्यामजी मे होगा 25 दिसम्बर 2017 को बलाई समाज का सामूहिक विवाह सम्मेलन

नवरत्न मन्डुसिया की कलम से //बेटा अंश है तो बेटी वंश है, बेटा आन है तो बेटी शान है, का संदेश देते हुए राज्य स्तरीय सामूहिक विवाह व पुर्नविवा...