शुक्रवार, 2 जून 2017

ईंट भट्टों पर मज़दूरी करने वाली मेघवाल समाज की गरीब महिला ने अस्पताल को दान की पाँच बीघा ज़मीन


 मेघवाल समाज की महिला को सम्मानित करते हुवे 

(मन्डुसिया ब्लोग)//सीकर :-कांवट के निकटवर्ती गांव भादवाड़ी निवासी गरीब परिवार की एक मेघवाल समाज की महिला ने सरकारी अस्पताल को अपनी 5 बीघा जमीन दान कर अनूठी मिसाल कायम की है। भादवाड़ी गांव में फिलहाल पीएचसी का संचालन हो रहा है। अस्पताल का भवन काफी जर्जर है, जहां स्वास्थ्य की बेहतर सुविधाएं नहीं हैं। खासकर महिलाओं को प्रसव के लिए दूसरे अस्पतालों में जाना पड़ता है। अव्यवस्थाओं की वजह से रात में डॉक्टर भी अस्पताल में नहीं रुकते हैं।

ईंट भट्टों पर मजदूरी करता है परिवार

55 साल की बिमला देवी मेघवाल  के चार बेटे व दो बेटियां हैं। इनके तीन बेटे दूसरे राज्यों में मार्बल का काम करते हैं। ईंट-भट्टों पर मजदूरी करने वाली बिमला फिलहाल नरेगा में काम कर रही है।
ग्रामीणों ने सराहा
गरीबों की पीड़ा को देखते हुए दलित परिवार की बिमला देवी पत्नी जगदीश प्रसाद मेघवाल ने खुद की 5 बीघा जमीन को दान करने का निर्णय लिया। और  अस्पताल प्रभारी डॉ. कृष्णकांत शर्मा को बिमला देवी ने ग्रामीणों की मौजूदगी में जमीन का दस्तावेज सौंपा। इस मौके पर ग्राम पंचायत और अस्पताल प्रशासन ने बिमला देवी व पति जगदीश प्रसाद मेघवाल को सम्मानित किया। हमे गर्व करने चाहिये हमारे मेघवाल समाज पर जिसमे की एक विश्व लेवल की सोच ने एक सरानीय काम किया है
नवरत्न मन्डुसिया की कलम से

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

नवरत्न मन्डुसिया

सरकारी सेवा के बाद भी सेवा समाप्त नही होती :- मन्डुसिया

दिल्ली : जिला अस्पताल में तैनात चीफ फार्मासिस्ट आलोक यादव  के सेवानिवृत्त होने पर आयोजित विदाई समारोह में उन्हें विदाई दी गई। इस मौके स्मृति...