बुधवार, 25 जुलाई 2012

मेघवंशी को सक्रिय राजनीति में जाने की अनुमति


खबरकोश न्यूज






भीलवाड़ा, 25 जुलाई 2012। दलित आदिवासी एवं घुमन्तु अधिकार अभियान राजस्थान तथा संयुक्त दलित संगठन की केंद्रीय कमेटी ने सामाजिक कार्यकर्ता
भंवर मेघवंशी को सक्रिय राजनीति में हिस्सा लेने की अनुमति प्रदान कर दी है।

डगर के प्रदेश संयोजक परशराम बंजारा तथ जिला संयोजक महादेव रेगर एवं संयुक्त दलित संगठन के प्रवक्ता आर.पी. बैरवा द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में उपरोक्त जानकारी देते हुये बताया गया कि मेघवंशी ने राजनीतिक क्षेत्र में सक्रिय रूप से काम करने की इच्छा जाहिर करते हुए अनुमति मांगी थी। व्यापक विचार विमर्श के पश्चात संगठन ने मेघवंशी को अनुमति देने का फैसला सर्वसम्मति से किया है।

डगर के प्रदेश संयोजक बंजारा ने कहा है कि प्रदेश भर के दलित, आदिवासी एवं घुमन्तु समुदाय के जनसंगठन समाजसेवी मेघवंशी के राजनीति में सक्रिय होने के फैसले से उत्साहित है तथा वे चाहते है कि मेघवंशी शीघ्र ही किसी राजनीतिक दल की सदस्यता ले और बड़ी भूमिका निभावें।
डगर के प्रदेश सचिव लखन सालवी ने जानकारी दी कि हाल ही में माण्डल क्षेत्र के शिवपुर गांव में हुई विशाल आध्यात्मिक सभा को संबोधित करते हुए मेघवंशी ने भी राजनीतिक सक्रियता का संकेत दिया था, तब से ही दलित, आदिवासी, घुमन्तु एवं अल्पसंख्यक व अन्य वंचित समुदायों में उत्साह बना हुआ है तथा उम्मीद की जा रही थी कि डगर की ओरस से कोई बड़ा निर्णय लिया जायेगा और अन्ततः डगर ही नही बल्कि शेष दलित संगठनों ने भी मेघवंशी के राजनीति में सक्रिय होने के फैसले पर मुहर लगा दी है।

उल्लेखनीय है कि सामाजिक कार्यकर्ता भंवर मेघवंशी को ग्रामीण मजदूर किसानों, दलितों व आदिवासियों के हित में किये गए कार्यों की बदौलत राष्ट्रीय स्तर पर कई अवार्ड मिल चुके है। उन्हें प्रतिष्ठित सरोजनी नायडु अवार्ड, भौरूका पुरस्कार, मानव गरिमा पुरस्कार, सामाजिक न्याय अवार्ड, अम्बेडकर अवार्ड, सिटीजन फॉर पीस अवार्ड सहित दर्जनों अवार्ड मिले है। वर्ष 2007 में उन्हें ‘हीरो ऑफ दी होप’ घोषित किया गया था, वहीं उन्हें ‘शांतिदूत और उम्मीद का नया चेहरा’ भी घोषित किया गया। मेघवंशी मूलतः लेखक है, उन्होंने सैकड़ों आलेख और विभिन्न विषयों पर 18 किताबें लिखी है तथा देश के कई प्रतिष्ठित संस्थानों में अध्यापन व दस्तावेजीकरण का काम किया है। उन्होंने 3 डॅाक्यूमेंन्ट्री फिल्में भी बनाई है तथा दलित आदिवासी समुदाय को न्याय दिलाने के लिये कई जन आंदोलनों में भी नेतृत्वकारी भूमिका निभाई।

मेघवंशी महानरेगा, खाद्य सुरक्षा, पर्यावरण संरक्षण तथा सामाजिक अंकेक्षण एवं सूचना का अधिकार जैसे मुद्दों पर भी निरन्तर सक्रिय रहे है, वे आजकल अपने गांव में स्थित ‘अम्बेडकर भवन’ के जरिये जन सरोकार के मुद्दों पर संघर्षरत है तथा एक लोकप्रिय न्यूज वेबसाइट ‘खबरकोश डोट कॉम’ का भी सम्पादन करते है तथा अब शीघ्र ही किसी राजनीतिक पार्टी से जुड़कर सक्रिय राजनीति में भागीदारी निभायेंगे।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

नवरत्न मन्डुसिया

मेघवाल समाज का लाडला नरेन्द्र वर्मा बासडी (सीकर) 18 बार रक्तदान करने पर जिला स्तर सम्मानित

नवरत्न मन्डुसिया कि कलम.से//विश्वरक्तदाता दिवस के अवसर पर सीकर जिले के युवाओं को रक्तदान हेतु प्रेरित करने वाले लगातार रक्तदान शिविरो का आ...