बुधवार, 7 सितंबर 2011

मेघवाल समाज का सामूहिक विवाह : 21 जोड़े परिणय सूत्र में बंधे


मकराना
मेघवाल समाज मकराना का चतुर्थ सामूहिक विवाह सम्मेलन मंगलवार को स्थानीय पलाड़ा रोड पर समारोहपूर्वक आयोजित हुआ। 21 जोड़ों ने सात फेरे लेकर जीने मरने की कसमें खाई। सुबह दूल्हों को गाजे बाजे के साथ तोरण के लिए पांडाल में लाया गया। इसके बाद समारोह स्थल पर वरमाला की रस्म हुई। सभी जोड़ों ने विवाह मंडप में मंत्रोच्चारण के साथ अग्रि के सात फेरे लिएसायं सवा तीन बजे बारातों को विदा करने की रस्म अदा की गई। विवाह सम्मेलन समिति ने सभी 21 जोड़ों को घरेलू उपयोग की जरूरी वस्तुएं भेंट की। मेघवाल समाज व अन्य समाजों से आए लोगों ने अपने सामथ्र्य के अनुसार दुल्हनों को कन्या दान दिया। मुख्य अतिथि गोपीचंद वर्मा ने कहा कि कुरीतियां मिटाने से ही समाज का विकास संभव है। विशिष्ट अतिथि पालिका अध्यक्ष अब्दुल सलाम भाटी ने कहा कि विवाह सम्मेलन फिजूलखर्ची जैसी कुरीतियों को रोकने में काफी सहायक है। ऐसे आयोजनों को सरकार भी सहयोग देती है। मेघवाल समाज के राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अशोक मेघवाल, अधिशाषी अभियंता बीएल भाटी, प्रभुराम कड़ैल, राजा राम, गोपाल अडाणिया, बिरदा राम नायक, डॉ. आरएस मेहरा, विवाह समिति के संयोजक मेवाराम गांधी, संरक्षक प्रभु राम खत्ती, लॉयंस क्लब के सूरज जैन, राम प्रसाद सैनी, विजय अग्रवाल, महेन्द्र झामनानी, भारत विकास परिषद् के महावीर बिदादा, गोरधन राम बुल्डक ने वर-वधू को आशीर्वाद दिया।


http://www.bhaskar.com/article/RAJ-OTH-1320070-2013559.html?ZX3-V

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

नवरत्न मन्डुसिया

भँवर मेघवंशी ने किया अपना देहदान

एक जरुरी फैसला - देहदान का ! मैं जो भी हूँ ,आप सबके प्यार ,स्नेह और मार्गदर्शन की वजह से हूँ। इसलिए आप सबका खूब खूब धन्यवाद ,साधुवाद,आभा...